कार्रवाई | विधायक का पुतला जलाने वालों पर आचार संहिता के उल्लंघन का मामला दर्ज

0
1179
शाहनगर क्षेत्र के नुनागर ग्राम में पवई विधायक मुकेश नायक के खिलाफ प्रदर्शन करते ग्रामीणजन।

पन्ना जिले के शाहनगर और सिमरिया थाना में दर्ज हुए प्रकरण

बिना अनुमति के विरोध-प्रदर्शन करने पर दर्जन भर लोगों के खिलाफ कार्रवाई

पुतला दहन की न्यूज कवर करने वाले पत्रकार को भी पुलिस ने बनाया आरोपी

पन्ना। रडार न्यूज  बुंदेलखंड अंचल के चर्चित विधानसभा क्षेत्र पवई में पिछले कुछ महीनों से जारी राजनैतिक घमासान चुनाव का बिगुल बजने के साथ ही तेज हो गया है। इस सीट पर भाजपा और कांग्रेस के प्रत्याशियों के नामों की अधिकृत घोषणा के पूर्व टिकिट के कतिपय प्रबल दावेदारों के बीच पर्दे के पीछे से और आमने-सामने शह-मात का खेल चल रहा है। इस बीच विगत दिनों पवई के विधायक एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेता मुकेश नायक पर विकास के मामले में क्षेत्र की घोर उपेक्षा करने, सुपात्रों को योजनाओं का लाभ न दिलाने तथा क्षेत्र के लोगों से अभद्र व्यवहार करते हुए उन्हें अपशब्द कहने के विरोध स्वरुप कई स्थानों ग्रामीणों द्वारा विधायक के खिलाफ जमकर प्रदर्शन करते हुए उनके पुतले जलाये गए थे। दशहरे पर विधायक को रावण की संज्ञा देते हुए उनका पुतला दहन करने से पैदा हुई सियासी आंच में फ़िलहाल प्रदर्शनकारी ही झुलसते नजर आ रहे हैं। बिना पूर्व सूचना एवं अनुमति के विरोध-प्रदर्शन करने पर पन्ना जिले के शाहनगर और सिमरिया पुलिस थाना में करीब दर्जनभर लोगों के खिलाफ नामजद दो अलग-अलग प्रकरण पंजीबद्ध किये गए है। विधायक प्रतिनिधि श्याम प्रताप सिंह राठौर उर्फ शंभू सिंह की लिखित रिपोर्ट पर पुलिस थाना शाहनगर में दर्ज प्रकरण में विरोध-प्रदर्शन के अगुवा रहे शाहनगर के जनपद उपाध्यक्ष आशीष खरे का नाम एफआईआर में है। इसके अलावा पुलिस ने इस घटनाक्रम का कवरेज करने वाले स्थानीय पत्रकार मदन तिवारी को भी आरोपी बनाया है। आवेदन पत्र के अनुसार एफआईआर दर्ज करने की बात कह रही शाहनगर पुलिस द्वारा इस मामले की न्यूज कवर करने वाले पत्रकार को प्रदर्शकारियों के साथ आरोपी बनाने कड़ा विरोध शुरू हो गया है। सोशल मीडिया पर लोग इस कार्रवाई को लेकर पुलिस की तीखी आलोचना कर रहे हैं। पुलिस अफसरों पर मीडियाकर्मियों के ऊपर दबाब बनाने और नकारात्मक ख़बरों को दबाने के लिए कानून का दुरूपयोग करने के गंभीर आरोप लग रहे है।

इनके खिलाफ दर्ज हुए प्रकरण

प्राप्त जानकारी अनुसार दशहरा के पूर्व संध्या पर 18 अक्टूबर को शाहनगर के ग्राम नुनागर में ग्रामीणों और कांग्रेस से निष्कासित नेता अनिल तिवारी के समर्थकों ने एकत्रित होकर पुतले में रावण के स्थान पर मुकेश नायक का मुखौटा लगाया और उसका दहन किया। इस दौरान मुकेश नायक भगाओ पवई बचाव के नारे लगाए। इस पर शाहनगर थाना पुलिस ने अपराध क्रमांक -29/18 धारा-188 भादवि का अपराध प्रदर्शनकारी आशीष खरे,लोकेन्द्र सिह पिता हेतराम राठौर, सुदामा पिता मंगी राठौर निवासी नुनागर, रहीस खान पिता नजीर खान निवासी शाहनगर, बालचन्द्र साहू पिता गुल्ला साहू , पान बाई पति गनेश राठौर निवासी नुनागर, मदन तिवारी निवासी शाहनगर, गुल्ला साहू पिता आशराम साहू , कुसमिया राठौर (नौखेलाल की बहन) , मूरत सिह कृपाल राठौर निवासी नुनागर थाना एवं अन्य 7-8 व्यक्तियों के विरूद्ध दर्ज किया गया। इसी प्रकार बिना अनुमति के ग्राम बनौली स्थित कुआंताल मेला प्रांगण में विजयादशमी के दिन 19 अक्टूबर को पुनः विधायक मुकेश नायक का पुतला जलाने के मामले में थाना सिमरिया पुलिस ने अपराध क्रमांक 283/18 धारा 188 भदवि के तहत प्रदर्शनकारी अजयपाल लोधी, सत्यपाल लोधी एवं अन्य 10-12 आरोपियों के विरूद्ध पंजीबद्ध किया है।

विधायक को घेरने विरोधी हुए एकजुट

उल्लेखनीय है कि पिछले माह पवई में एक आमसभा में सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा पवई सीट से मुकेश नायक को पुनः प्रत्याशी घोषित करने के बाद से ही उनका विरोध शुरू हो गया है। पवई सीट से टिकिट के दावेदार बताये जा रहे कांग्रेस के अन्य नेता खुलकर नायक के विरोध में उतर आये हैं। विधायक मुकेश नायक को प्रत्याशी बनाने की सिंधिया की घोषणा का उन्हीं के सामने सड़क पर उतरकर विरोध करने पर अनिल तिवारी को पहले ही कांग्रेस निष्कासित किया जा चुका है। हाल ही में जिस तरह पवई विधायक के पुतले जलाये गए और इन विरोध-प्रदर्शनों में अनिल तिवारी समर्थक रहे उससे लोगों के बीच यह चर्चा जोर पकड़ रही है यह सब प्रायोजित है। चुनाव से पूर्व मुकेश का माहौल खराब करने उनके विरोधियों ने हांथ मिला लिए है। इसमें कुछ पर्दे के पीछे से तो कुछ सामने आकर मुकेश की मुश्किलें बढ़ा रहे हैं। फलस्वरुप उन्हें कभी क्षेत्र के विकास के मुद्दे पर तो कभी बाहरी होने के कारण घेरते हुए खास रणनीति के तहत किसी भी क्षेत्रीय नेता को टिकिट देने की मांग एकजुटता के साथ की जा रही। बहरहाल कई ग्रामों में मुकेश नायक को जमकर विरोध का सामना करना पड़ रहा है। सामूहिक रूप से जारी क्षेत्रीय प्रत्याशी की मांग के बीच मुकेश नायक को पुनः टिकट मिलती है, तो इस बार चुनाव में उन्हें खासी मशक्कत करनी पड़ सकती है।

इनका कहना है- लिखित आवेदन पत्र के आधार पर प्रकरण दर्ज किया गया है, मामले की विवेचना में यदि मदन तिवारी की विरोध-प्रदर्शन में कोई भूमिका नहीं पाई जाती तो इस पर आवश्यक कार्रवाई की जायेगी, आप भरोसा करें किसी के साथ गलत नहीं होगा।

अरुण श्रीवास्तव, निरीक्षक थाना शाहनगर।