कर्नाटक के नतीजों से कांग्रेस बन गई ‘‘पीपीपी‘‘ पार्टी !

0
723

चुनाव प्रचार के दौरान पीएम मोदी द्वारा की गई भविष्यवाणी हुई सच साबित

किसकी बनेगी सरकार सस्पेंस बरकार, किंगमेकर बनकर उभरी जेडीएस

नई दिल्ली। रडार न्यूज कर्नाटक में विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा कांग्रेस पार्टी को लेकर की गई भविष्यवाणी सही साबित हुई है। प्रधानमंत्री मोदी ने वहां एक रैली में कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा था कि, 15 मई को चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद कांग्रेस पार्टी ‘‘पीपीपी कांग्रेस‘‘ रह जायेगी। इस ट्रिपल पी का मतलब समझाते हुए उन्होंने यह भविष्यवाणी की थी कि अब पंजाब, पुडुचेरी और परिवार में ही कांग्रेस रह जाएगी। कर्नाटक के चुनाव के अब तक आये नतीजों से पीएम नरेन्द्र मोदी की यह भविष्यवाणी सही साबित हुई है। कांग्रेस के हाथ से कर्नाटक निकल गया है। दक्षिण भारत के इस महत्वपूर्ण राज्य में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। कर्नाटक में कमल खिलने से भाजपा के खेमे में खुशी की लहर देखी जा रही है। हालांकि मतगणना से पहले तक कांग्रेस दावा कर रही थी कि, हर सूरत में सरकार वही बनाएगी, लेकिन रुझान इसके ठीक विपरीत हैं। कर्नाटक के चुनाव प्रचार में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने यह भविष्यवाणी भी की थी कि राज्य में सत्तारुढ़ कांग्रेस इस चुनाव में मटियामेट हो जाएगी। अब तक की स्थिति कुछ ऐसी ही दिख रही है। वहीं दूसरी ओर कर्नाटक चुनाव से पहले कहा जा रहा था कि अगर कांग्रेस जीतती है तो यह उसके लिए वापसी की शुरुआत होगी। पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक सवाल के जवाब में पिछले दिनों यह भी कहा था कि, अगर मौका मिलेगा तो वे प्रधानमंत्री बनने के लिए तैयार हैं। कर्नाटक चुनाव के नतीजों से कांग्रेस और राहुल गांधी की उम्मीदों को तगड़ा झटका लगा है। कर्नाटक में कांग्रेस की हार के साथ ही भाजपा और पीएम मोदी का कांग्रेस मुक्त भारत का नारा एक कदम और आगे बढ़ गया है। आपको बता दें कि कर्नाटक में 222 सीटों के लिए हुए चुनाव में अब तक बीजेपी को 106, कांग्रेस-77 जेडीएस-37 सीटों पर आगे हैं।

क्या कांग्रेस-जेडीएस की बनेगी सरकार-

कर्नाटक विधानसभा चुनाव के परिणामों की तस्वीर अभी तक पूरी तरह साफ नहीं हुई नहीं है। अब तक के रूझानों से यह साफ है कि भारतीय जनता पार्टी यहां सबसे बड़े दल के रूप में उभरी है। लेकिन भाजपा बहुमत के जादुई आंकड़े के पार जाकर अंतिम क्षणों में उससे दूर होती जा रही है। इस स्थिति को चुनावी विश्लेषक कांग्रेस और जनता दल सेक्युलर की साझा सरकार की संभावना के रूप में देख रहे है। कर्नाटक और दिल्ली से भी यह खबरें आ रहीं है कि दोनों ही पार्टियों में सरकार के गठन को लेकर सहमति बन चुकी है। बताते चलें कि शुरू से ही जेडीएस को किंगमेकर की भूमिका में देखा जा रहा था जोकि सच साबित होती दिख रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here