सीएम शिवराज ने खुद को बताया मदारी | बोले, मेरे डमरू बजाते ही हो जाते हैं कई काम

0
791
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधनी में राज्य स्तरीय रोजगार, स्व-रोजगार हितग्राही सम्मेलन को संबोधित किया।

स्व-रोजगार क्षेत्र में मध्यप्रदेश ने किया सराहनीय कार्य – हेगड़े

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने 2150 युवाओं को स्व-रोजगार के लिए दी सहायता

 बुधनी में सम्पन्न हुआ राज्य-स्तरीय रोजगार, स्व-रोजगार हितग्राही सम्मेलन 

भोपाल। रडार न्यूज  प्रदेश के युवाओं के लिए आज चार अगस्त का दिन उपहारों से भरा दिन रहा, जब 2 लाख 84 हजार से ज्यादा  युवाओं का अपना रोज़गार स्थापित करने का सपना पूरा हुआ। सीहोर जिले के बुधनी तहसील मुख्यालय में राज्य स्तरीय रोज़गार, स्व-रोजगार हितग्राही सम्मेलन में 2150 युवाओं ने मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान के हाथों लोन स्वीकृति एवं रोज़गार के आशय-पत्र प्राप्त किये। मुख्यमंत्री ने अन्य योजनाओं के 13 हजार 600 हितग्राहियों को भी लाभान्वित किया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि वे  ऐसे मदारी हैं, जिनके डमरु बजाते ही बड़े-बड़े बिजली के बिल शून्य हो जाते हैं। वे ऐसे मदारी हैं, जो बच्चों की फीस भरते हैं और मध्यप्रदेश को बदलने के लिये संकल्पित हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने गरीबी दूर करने का काम किया है। प्रदेश को बीमारू राज्य के कलंक से मुक्त किया है। उन्होंने कहा कि आज मध्यप्रदेश विकसित राज्य बन गया है। अब इसे समृद्ध राज्य बनाने में कोई प्रयास अधूरे नहीं छोड़ेंगे।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में 7.50  लाख युवाओं को रोजगार दिया जाएगा। इनमें से दो लाख 60 हजार युवाओं को रोजगार उपलब्ध करवाया गया है। प्रदेश में अब गरीबी नहीं रहेगी। अगले 4 साल में गरीब झोपड़ी में नही, पक्के घरों में रहेंगे। श्री चौहान ने कहा कि रोजगार देने की नई योजनाएँ बनाई गई हैं। केवल 2 महीने के भीतर प्रदेश में 2 लाख 52 हजार 122 लोगों को निजी क्षेत्र में रोजगार के अवसर मिले हैं। बच्चों को विदेशों में नौकरी करने के अवसर भी मिले हैं। उन्होंने कहा कि युवाओं को रोजगार देने का अभियान जारी रहेगा।

गरीबी हटाने में सरकार का हाथ बँटायें

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधनी में राज्य-स्तरीय रोजगार, स्व-रोजगार हितग्राही सम्मेलन में हितग्राहियों को रोजगार संबंधी आशय प्रमाण-पत्र वितरित किए।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि महिलाओं के स्व- सहायता समूहों को हरसंभव सहायता देकर आगे बढ़ाया जाएगा। फिलहाल उन्हें शालाओं के गणवेश बनाने और पोषण आहार तैयार करने की जिम्मेदारी दी गई है। अब उन्हें 5 करोड़ के बैंक लोन पर गारंटी दी जाएगी और इस पर लगने वाले ब्याज की 3 प्रतिशत राशि अनुदान के रूप में सरकार देगी। उन्होंने कहा कि सरकार का उद्देश्य लोगों की जिंदगी बदलना है। उन्होंने लोगों का आह्वान किया कि प्रदेश से गरीबी हटाने में सरकार का हाथ बँटाये, सहयोग करें।

मुख्यमंत्री ने विभिन्न योजनाओं में सीहोर जिले के हितग्राहियों को 84 करोड़ रूपये के हित लाभ का वितरण किया। उन्होंने बुधनी में ई-अस्पताल पोर्टल का शुभारंभ भी किया। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर 10 करोड़ 40 लाख लागत के विकास कार्यों का भूमि-पूजन और लोकार्पण किया। 

हर गाँव में पहुँचेगा कौशल रथ

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधनी में ई-अस्पताल पोर्टल का शुभारंभ किया।

केन्द्रीय कौशल विकास और उद्यमशीलता राज्य मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने राज्य सरकार के रोजगार निर्माण के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मार्गदर्शन में युवाओं को रोजगार देने का मिशन पूरा हो रहा है। युवाओं के सपने साकार हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि पहले मध्यप्रदेश को बीमारू राज्य कहा जाता था। आज लाखों युवाओं को प्रदेश में ही रोजगार के भरपूर अवसर मिल रहे हैं।

श्री हेगड़े ने कहा कि केन्द्र सरकार का सपना है कि सभी नौजवानों को रोजगार के अवसर मिलें। युवाओं को कौशल संबंधी मार्गदर्शन देने और उन्हें कौशल मिशन से जोड़ने के लिये कौशल रथ तैयार किया गया है, जो मध्यप्रदेश के हर गाँव में पहुँचेगा। इस रथ के माध्यम से युवाओं को मार्गदर्शन दिया जायेगा कि वे पढ़ाई के बाद किस दिशा में आगे बढ़े। उन्होंने कहा कि केन्द्र और राज्य सरकार मिलकर युवाओं के लिये रोजगार निर्माण का काम कर रहे हैं। इसका एकमात्र उद्देश्य यही है कि हर गाँव से उद्यमी तैयार होना चाहिये।

इस अवसर पर अखिल भारतीय किरार महासभा की अध्यक्षा श्रीमती साधना सिंह चौहान, सीहोर जिले के प्रभारी मंत्री रामपाल सिंह, अपेक्स बैंक के अध्यक्ष रमाकांत भार्गव, मध्यप्रदेश रोज़गार बोर्ड के अध्यक्ष  हेमंत देशमुख, वन विकास निगम के अध्यक्ष  गुरु प्रसाद शर्मा, ज़िला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती उर्मिला बरेठा और बड़ी संख्या में हितग्राही उपस्थित थे।